स्‍वतंत्रता दिवस १५ अगस्त १९४७

11:41 pm गजेन्द्र सिंह 4 Comments

भारत केवल एक भूगोल या इतिहास का अंग ही नहीं है। यह सिर्फ एक देश, एक राष्ट्र, एक जमीन का टुकड़ा मात्र नहीं है। यह कुछ और भी है- एक प्रतीक, एक काव्य, कुछ अदृश्य सा-किन्तु फिर भी जिसे छुआ जा सके ! कुछ विशेष ऊर्जा-तरंगों से स्पंदित है यह जगह, जिसका दावा कोई और देश नहीं कर सकता।
आप सभी को स्वतंत्रता
दिवस की बहुत -
बहुत शुभकामनाये


4 टिप्‍पणियां:

  1. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  2. हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  3. बधाई..स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई

    उत्तर देंहटाएं

कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय संयमित भाषा का इस्तेमाल करे। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी ...